गव्य पित्त बहिर्गमन चूर्ण

घटक पदार्थ और उनकी मात्रा

  1. मंजिष्ठा का मोटा चूर्ण : 200 ग्राम
  2. गोमूत्र क्षार : 200 मिलीलीटर
  3. काला नमक : 10 ग्राम
  4. सेंधा नमक : 10 ग्राम

बनाने की विधि

  1. एक चीनीमिट्टी के अथवा अच्छी गुणवत्ता के प्लास्टिक के बर्तन में गोमूत्र क्षार लेकर उसमे मंजिष्ठा का मोटा चूर्ण मिलाएं ।
  2. उपर्युक्त मिश्रण 15 दिन तक उसी स्थिति में रहने दें ।
  3. 16वें दिन, भीगा हुआ मंजिष्ठा चूर्ण थाली में निकालकर कड़ी धूप में सुखा लें ।
  4. पूर्णतः सूख जाने पर कपड़ा छान चूर्ण बना लें । इस चूर्ण में काला नमक और सेंधा नमक का बारीक चूर्ण अच्छे से मिलाकर, कांच की वायु रोधक बरनी में रख दें ।